पंजाब के एक निजी यूनिवर्सिटी की कई छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो लीक होने के बाद भारी हंगामा मच गया।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हंगामे का मामला सामने आया है जहां करीब 60 छात्राओं के नहाते समय का वीडियो रिकॉर्ड किया गया जिसके बाद उन्हें धमकियां दी जा रही थी.

इसके चलते कई छात्राओं ने आत्महत्या तक करने की कोशिश की

वहीं अब बड़ी खबर यह है कि यह वीडियो किसी और ने नहीं बल्कि एक छात्रा ने ही बनाया था और फिर बाद में इसे अपने बॉयफ्रेंड को दे दिया था जिसने ये वीडियो वायरल कर दिए.

हालांकि इस मामले में प्रशास ने एक्शन लिया है और कहा है कि वह जल्द छात्राओं के वीडियोज इंटरनेट से हटवाएगी और इसके लिए प्रयास भी किए जा रहे हैं.

वहीं पंजाब की राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी भी चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी पहुंचने वाली हैं जहां वे इस पूरे केस की जांच करेंगी.

दूसरी ओर एक स्पेशल जांच टीम भी शिमला के लिए रवाना कर दी गई है. प्रशासन द्वारा छात्राओं से संयम बरतने की अपील की गई है.

चंडीगढ़ यूनविर्सिटी की घटना पर पंजाब के शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने रविवार सुबह ट्वीट किया।

शिक्षा मंत्री की अपील

कहा कि किसी दोषी को बख्‍शा नहीं जाएगा। उन्‍होंने लिखा कि 'यह बेहद संवेदनशील मामला है और हमारी बहनों और बेटियों के सम्‍मान से जुड़ा है।

शिक्षा मंत्री की अपील

उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जो भी दोषी होगा सख्त कार्रवाई करेंगे। आप सभी से अपील है करता हूं कि अफवाहों से बचें।

भगवंत मान ने कहा